Banner भंडारण योजनाएं
"भंडारण और गोदाम” योजना – एफ.सी.आई. द्वारा गोदामों का निर्माण
 यह विभाग पूर्वोत्‍तर क्षेत्र में क्षमता बढ़ाने पर विशेष ध्‍यान केंद्रित करने के साथ गोदमों के निर्माण के लिए केन्‍द्रीय क्षेत्र की स्‍कीम कार्यान्‍वित कर रहा है। यह स्‍कीम कुछ अन्‍य राज्‍यों जैसे हिमाचल प्रदेश तथा केरल में भी प्रचालित की जा रही है। भारतीय खाद्य निगम को भूमि अधिग्रहित करने तथा भंडारण गोदामों के निर्माण एवं संबंधित आधारभूत संरचनाओं जैसे रेलवे साइडिंग, विद्युतिकरण, धर्मकांटा लगाने आदि के लिए इक्‍विटी के रुप में निधियां जारी की जाती हैं। 12 वीं पंचवर्षीय योजना (2012-17) के दौरान एफ.सी.आई. द्वारा 216.57 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता के साथ 1.37 एल.एम.टी. की क्षमता पूरी की गई थी
 यह योजना तीन साल तक बढ़ा दी गई है जो 31.03.2020 को समाप्त हो रही है। इस संबंध में भौतिक और वित्तीय लक्ष्य और उपलब्धियां नीचे दी गई हैं:-

एजेंसी

राज्‍य

2017-20 तक बनाई जाने वाली क्षमता (टन में)

सितम्बर 2018, तक जारी की गयी
इक्विटी (करोड़ रुपए में)

सितम्बर 2018, तक निर्मित क्षमता (टन में)

भौतिक (टन में)

वित्‍तीय (करोड़ रुपए में)

एफसीआई

असम

42500

124.45

58.50

अरुणाचल प्रदेश.

6130

10.45

3,340

मणिपुर

25000

43.48

मेघालय

7500

13.03

मिजोरम

10000

40.00

नागालैंड

4590

2.48

4,590

सिक्‍किम

3500

5.80

त्रिपुरा

20000

75.72

कुल (पूर्वोत्तर)

119220

315.41

7,930

हिमाचल प्रदेश

11220

22.70

-

केरल

15000

11.63

झारखंड

65000

70.25

कुल अन्य

91220

104.58

कुल (पूर्वोत्तर + अन्य)

2,10,440

419.99

58.50

7,930

12 वीं एफ.वाई.पी. में अव्ययित शेष (- 40.28 करोड़) लेने के बाद कुल

379.71

*****


शीर्ष पर वापस जाएँ