Banner प्रभाग

प्रस्तावना

भंडारण प्रभाग केन्‍द्रीय खाद्य स्‍टॉक के लिए पर्याप्‍त भण्‍डारण क्षमता को सुनिश्चित करने से संबंधित नीतिगत पहलुओं की निगरानी करता है। यह अपने नियंत्रणाधीन सार्वजनिक क्षेत्र के दो केन्‍द्रीय उद्यमों (सीपीएसई) नामत: केन्‍द्रीय भंडारण निगम और सीआरडब्‍ल्‍यूसी के जरिए भारतीय अर्थव्‍यवस्‍था, विशेष रूप से कृषीय और अधिसूचित वस्‍तुओं के लिए संभारतंत्र सहायता उपलब्‍ध कराने का प्रयास करता है। यह एक विनियामक प्राधिकरण (डब्‍ल्‍यूडीआरए) के लिए प्रशासनिक प्रभाग भी है।

केन्द्रीय भंडारण निगम (सीडब्ल्यूसी)

इस विभाग के तहत 02.03.1957 को स्‍थापित केन्‍द्रीय भंडारण निगम, एक सार्वजनिक क्षेत्र का उपक्रम, कृषि उपकरणों तथा उत्‍पाद तथा अन्‍य अधिसूचित वस्‍तुओं के लिए वैज्ञानिक भंडारण सुविधाएं मुहैया कराता है। केन्‍द्रीय भंडारण निगम एक आईएसओ 9001:2000, आईएसओ 14000:2004 और ओएचएसएएस 18001:2007 अनुसूची एक मिनी रत्‍न, श्रेणी-I संगठन है।

01.08.2018 की स्थिति के अनुसार केन्‍द्रीय भंडारण निगम, निर्यात/आयात व्‍यापार को सेवाएं उपलब्‍ध कराने के लिए 44 सीमा शुल्‍क बोंडेड भण्‍डारगारों, 29 कन्‍टेनर फ्रेंट स्‍टेशनों / अन्‍तर्देशी निकासी डिपुओं, 3 एयर कार्गो काम्‍प्‍लैक्‍सों (एसीसी) (5961 मीट्रिक टन) और 3 तापमान नियंत्रित भण्‍डारगारों (2419 मीट्रिक टन) सहित 100.28 लाख मीट्रिक टन की कुल परिचालित भण्‍डारण क्षमता के साथ 431 भांड़ागारों को संचालित कर रहा है।

वित्तीय निष्पादन

(करोड़ रु मे)

वर्ष

कुल बिक्री

खर्च

टैक्स के पूर्व लाभ

टैक्स के बाद लाभ

लाभांश

दर

राशि

2011-12

1218.65

1059.53

159.12

100.46

40%

27.19

2012-13

1406.70

1197.47

209.23

139.55

41%

27.87

2013-14

1528.19

1271.72

256.47

161.05

48%

32.63

2014-15

1561.83

1301.77

260.06

182.12

54%

36.71

2015-16

1639.93

1356.37

283.56

197.82

88%

59.82

2016-17

1606.29

1346.70

260.58

231.22

142%

96.52

2017-18

1580.99

1550.25

30.74

14.29

32%

21.75

2018-19

31.07.2018 तक

अनंतिम

502.00

446.93

55.07

38.55

-

-

Click Here वेबसाइट के लिए

राज्य भण्डारण निगम (एसडब्ल्यूसी)

­­­

केन्‍द्रीय भंडारण निगम के 19 सहयोगी राज्‍य भंडारण निगम हैं। 01.08.2018 की स्थिति के अनुसार केन्‍द्रीय भंडारण निगम का कुल निवेश, जो राज्‍य भंडारण निगमों की ईक्विटी पूंजी में 50 प्रतिशत का हिस्‍सेदार है, 61.79 करोड़ रूपये था। 31.07.2018 की स्थिति के अनुसार, राज्‍य भंडारण निगम कुल 352.65 लाख मीट्रिक टन की कुल क्षमता के साथ 2012 भांड़ागारों को संचालित कर रहे थे।

सेन्ट्रल रेलसाइड वेयरहाउस कंपनी लिमिटेड (सीआरडब्ल्यूसी)

केन्‍द्रीय भंडारण निगम ने रेल साइडों पर भाण्‍डागार कॉम्‍प्‍लैक्‍सों (आरडब्‍ल्‍यूसी) को विकसित करने हेतु 100 प्रतिशत स्वामित्व के साथ एक सहायक कम्‍पनी नामत: सेन्ट्रल रेलसाइड वेयरहाउस कंपनी लिमिटेड (सीआरडब्‍ल्‍यूसी) स्‍थापित की है। यह सहायक कम्‍पनी 10.07.2007 को निगमित की गई थी और कारोबार शुरू करने के लिए प्रमाणपत्र 24.07.2007 को प्राप्‍त किया गया था। सीआरडब्‍ल्‍यूसी 01.08.2018 की स्थिति के अनुसार 3,46,267 मीट्रिक टन की कुल भण्‍डारण क्षमता के साथ 19 रेल साइड भाण्‍डागार काम्‍प्‍लैक्‍सों का संचालन कर रहा था।

Click Here वेबसाइट के लिए

भाण्डागार विकास एवं विनियामक प्राधिकरण (डब्ल्यूडीआरए)

­­­

भांडागारण (विकास और विनियमन) अधिनियम, 2007 के प्रावधानों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के लिए भारत सरकार द्वारा भांडागारण विकास और विनियमन प्राधिकरण (डब्ल्यूडीआरए) का गठन 26.10.2010 को किया गया था। डब्लूडीआरए का मुख्य उद्देश्य देश में निगोशिएबल भांडागार रसीद (एनडब्ल्यूआर) प्रणाली का क्रियान्वयन है, जिससे किसानों को अपने खेतों के निकट वैज्ञानिक पद्धति से निर्मित भंडारण गोदामों में अपने उत्पाद का संग्रह करने और अपनी निगोशिएबल भांडागारण रसीद के प्रति बैंक से ऋण लेने में सहायता मिलेगी। प्राधिकरण के मुख्य कार्य भांडागारों के विकास और नियमन के लिए प्रावधान करना है जिसमें अन्य बातों के साथ-साथ भांडागार रसीदों की निगोशिएबिलिटी, भांडागारों का पंजीकरण, माल के वैज्ञानिक भंडारण को बढ़ावा देना, जमाकर्ताओं और बैंकों की वित्तीय साख में सुधार करना, ग्रामीण क्षेत्रों में नकदी बढ़ाना और कार्य कुशल आपूर्ति श्रृंखला का संवर्धन करना है।

भांडागारण विकास और विनियमन प्राधिकरण के पास पंजीकृत भांडागारों, जारी किए गए एनडब्ल्यूआर और दिनांक 31.07.2018 की स्‍थिति के अनुसार एनडब्लूआर के प्रति वित्तपोषित ऋण का वर्षवार विवरण निम्नानुसार है:-

क्र.सं.

वर्ष

पंजीकृत भांडागारों की संख्या

जारी किए गए एनडब्लूआर की संख्या

एनडब्ल्यूआर के प्रति जमा की गई वस्तुओं का कुल मूल्य

(करोड़ रुपए में)

एनडब्ल्यूआर के प्रति कुल ऋण (करोड़ रुपए में)

1.

2011-12

240

8056

1356.32

591.00

2.

2012-13

92

8242

416.26

105.65

3.

2013-14

68

6121

583.02

108.02

4.

2014-15

234

16993

1160.66

388.42

5.

2015-16

588

15178

845.05

203.47

6.

2016-17

214

19350

719.93

148.40

7.

2017-18

261

(ऑनलाईन- 106)

12313

(- एनडब्ल्यूआर -114)

510.2

(- एनडब्ल्यूआर 8.643)

118.51

(- एनडब्ल्यूआर के प्रति -0.20 करोड़ रुपए)

8.

2018-19

176

(ऑनलाईन – 170)

12015

(- एनडब्ल्यूआर -6764)

120.76

(- एनडब्ल्यूआर -219.8038)

37.75

(- एनडब्ल्यूआर के प्रति शून्‍य)

कुल

1873*

98268

6082.3968

1701.22

(*सक्रिय-732)

सरकार ने नए पंजीयन नियम अधिसूचित करके अर्थात जीएसआर 165 (ई) दिनांक 23.02.2017 और उसमें संशोधनों को जीएसआर 1040 (ई) दिनांक 22.08.2017 और 251 (ई) दिनांक 20.03.2018 के माध्यम से भांडागारण विकास और नियामक प्राधिकरण (डब्ल्यूडीआरए) के पास भांडागारों के पंजीकरण की प्रक्रिया को सरल बना दिया है। नए नियमों का उद्देश्य डब्ल्यूडीआरए के पास पंजीकृत भांडागारों की संख्या में वृद्धि करना है। इससे निगोशिएबल भांडागारण रसीद प्रणाली के माध्यम से किसानों के लिए वित्त (प्लेज फाइनेंस) की सुविधा बढ़ेगी।

ऑनलाइन भांडागारों के पंजीकरण की प्रक्रिया को बदलने और पेपर-एनडब्लूआर के स्थान पर ई-एनडब्ल्यूआर जारी करने के लिए माननीय उपभोक्ता मामलों खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री श्री राम विलास पासवान ने दिनांक 26.09.2017 को इलेक्ट्रॉनिक निगोशिएबल भांडागारण रसीद प्रणाली (ईएनडब्ल्यूआर) और डब्ल्यूडीआरए पोर्टल केए उद्घाटन किया, जो एक और अधिक विश्वसनीय वित्त पोषण साधन होगा। ई-एनडब्लूआर सिस्टम दो रिपोजिटरीज - नेशनल ई-रिपोजिटरीज लिमिटेड (एनईआरएल) और सीडीएसएल कमोडिटी रिपोजिटरी लिमिटेड (सीसीआरएल) के माध्यम से कार्यान्वित किया जा रहा है।

Click Here वेबसाइट के लिए

खाद्यान्नों की हैंडलिंग, भण्डारण और परिवहन के लिए राष्ट्रीगय नीति

भण्‍डारण और मार्गस्‍थ हानियों को न्‍यूनतम करने और आधुनिक प्रौद्योगिकी लागू करने की दृष्टि से सरकार ने जून, 2000 में खाद्यान्‍नों की हैंडलिंग, भण्‍डारण और परिवहन के संबंध में एक राष्‍ट्रीय नीति अनुमोदित की थी। इस नीति के अंतर्गत निर्माण स्‍वामित्‍व और प्रचालन (बीओओ) आधार पर निजी क्षेत्र की भागीदारी के जरिए निम्‍नलिखि‍त स्‍थानों पर 5.5 लाख मीटरी टन की मात्रा हेतु समेकित रूप में अधिक मात्रा में हैंडलिंग, भण्‍डारण और परिवहन सुविधाएं सृजित की गई हैं। मैसर्स आदानी एक्‍सपोर्ट लि. का इस परियोजना के लिए डिवेल्‍परसह आपरेटर के रूप में चयन किया गया है।

सर्किट1

सर्किट2

स्थान

क्षमता (मीट्रिक टन)

स्थान

क्षमता (मीट्रिक टन)

बेस डिपो

मोगा

2,00,000

बेस डिपो

कैथल

2,00,000

क्षेत्र डिपो

चेन्न्ई

25000

क्षेत्र डिपो

नवी मुम्बई

50000


कोयम्बमटूर

25000


हुगली

25000


बेंगलोर

25000




कुल


2,75,000

कुल


2,75,000


शीर्ष पर वापस जाएँ