• पिछला अद्यतनीकृतः: 30 नवम्बर 2022
  • मुख्य सामग्री पर जाएं | स्क्रीन रीडर का उपयोग | A A+ A++ | |
  • A
  • A

हब और स्पोक मॉडल के तहत साइलोज का निर्माण

खाद्यान्नों का आधुनिक तरीके से भंडारण करने की दृष्टि से और भारत में खाद्यान्नों की भंडारण क्षमता में वृद्धि करने के लिए, सार्वजनिक निजी साझेदारी (पीपीपी) मोडके अंतर्गत के तहत समूचे देश में अनाज साइलोज के विकास के लिए नए हब और स्पोक मॉडल का प्रस्ताव किया गया है।

हब और स्पोक मॉडल एक परिवहन प्रणाली है, जो स्टैंडएलोन स्थानों से परिवहन संबंधी परिसंपत्तियों को समेकित करता है, जिसे केन्द्रीय स्थानों के लिए"स्पोक के रूप में तथा लम्बी दूरी के परिवहन के लिए "हब के रूप में दर्शाया जाता है। हबके अंतर्गत विशेष रूप से रेलवे साइडिंग और कंटेनर डिपो सुविधाआती है, जबकि स्पोक से हब तक का परिवहन सड़क के माध्यम से तथा हब से हब तक का परिवहन रेल के माध्यम से किया जाता है। देश में आर्थिक विकास,ढांचागत विकास और रोजगार सृजन के अतिरिक्त रेलवे साइडिंग की प्रभाविकता को काम में लाकर, यह मॉडल थोक भंडारण और संचलन के जरिए लागत प्रभाविकता को बढ़ाता है, हैंडलिंग और परिवहन की लागत और समय को बचाता है, तथा प्रचालन संबंधी जटिलताओं को दूर करता है।

इस मॉडल के तहत, इस विभाग द्वारा भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के जरिए डिजाइन, निर्माण, निधि, निजी और अंतरण (डीबीएफओटी) (एफसीआई की भूमि) और डिजाइन, निर्माण, निधि निजी और प्रचालन (डीबीएफओओ) (रियायती भूमि/अन्य एजेंसी) मोड के तहत समूचे देश में 249 स्थानों पर 111.125 लाख टन” क्षमता के हब और स्पोक मॉडल साइलोज का विकास करने का प्रस्ताव किया गया है।

डीबीएफओटी प्रथम चरण परियोजना:-

सक्षम प्राधिकारी के अनुमोदन के बाद, डीबीएफओटी प्रथम चरण के तहत 4 परियोजनाओं के लिए दिनांक 26/04/2022 को निविदा जारी कर दी गई है और दिनांक 09/08/2022 तक सभी चार बंडलों के लिए कुल 38 बोलियां प्राप्त हुई हैं।


क्र.सं.

राज्य

साईलो का प्रकार (हब/स्पोक)

स्थान

क्षमता टन में

अनुमानित परियोजना लागत (करोड़ रूपए में)

बंडल

1

बिहार

स्पोक

कटिहार

50,000

236

परियोजना-1

2

उत्तर प्रदेश

हब

एफएसडी गोंडा

100,000

3

उत्तर प्रदेश

स्पोक

संडीला

75,000

4

उत्तर प्रदेश

हब

एफएसडी चंदारी

125,000

350,000

क्र.सं.

राज्य

साईलो का प्रकार (हब/स्पोक)

स्थान

क्षमता टन में

परियोजना-2

5

गुजरात

हब

एफएसडीगांधीधाम

37,500

179

6

गुजरात

स्पोक

एफएसडी -वधावन

25,000

7

गुजरात

स्पोक

एफएसडी -वांकानेर

25,000

8

महाराष्ट्र

हब

एफएसडी बोरीवली

125,000

212,500

क्र.सं.

राज्य

साईलो का प्रकार (हब/स्पोक)

स्थान

क्षमता टन में

परियोजना-3

9

उत्तर प्रदेश

स्पोक

लालपुर

100,000

160

10

उत्तर प्रदेश

हब

एफएसडी रोजा

50,000

11

उत्तर प्रदेश

स्पोक

एफएसडी धमोरा

25,000

12

उत्तर प्रदेश

स्पोक

एफएसडी खुर्जा

50,000

225,000

क्र.सं.

राज्य

साईलो का प्रकार (हब/स्पोक)

स्थान

क्षमता टन में

परियोजना-4

13

पंजाब

हब

बीजी मलोट

150,000

148

14

राजस्थान

स्पोक

एफएसडी सीएपी अलवर

75,000

225,000

कुल

1,012,500

723

डीबीएफओओ प्रथम चरण परियोजना :-

सक्षम प्राधिकारी से अनुमोदन के पश्चात्, दिनांक 21/06/2022 को डीबीएफओओ प्रथम चरण के तहत 3 परियोजनाओं के लिए निविदा प्रकाशित की गई है|

परियोजना 1के तहत स्थानडीबीएफओओ (चरण 1)

डीबीएफओओ परियोजना-1

क्र.सं.

राज्य

साईलो का प्रकार (हब/स्पोक)

स्थान

क्षमता टन में

1

पंजाब

स्पोक

धुरी

50,000

2

पंजाब

स्पोक

मूनक

37,500

3

पंजाब

स्पोक

दीरबा

25,000

4

पंजाब

स्पोक

खनौरी

25,000

5

पंजाब

स्पोक

पटियाला

50,000

6

पंजाब

स्पोक

समाना

75,000

7

पंजाब

स्पोक

पातरां

75,000

8

पंजाब

स्पोक

मेहलकलां

37,500

9

पंजाब

स्पोक

सेहना

25,000

10

पंजाब

स्पोक

तपा

37,500

11

पंजाब

स्पोक

धनौला

25,000

12

पंजाब

स्पोक

जैतो

50,000

13

पंजाब

स्पोक

फरीदकोट

75,000

14

पंजाब

स्पोक

सादिक

25,000

15

पंजाब

स्पोक

पायल

25,000

16

पंजाब

स्पोक

माछीवाड़ा

37,500

17

पंजाब

स्पोक

खन्ना

37,500

18

पंजाब

स्पोक

लुधियाना

25,000

19

पंजाब

स्पोक

बरीवाला

25,000

20

पंजाब

स्पोक

किलाँवाली

37,500

21

पंजाब

स्पोक

पन्नीवाला

25,000

22

पंजाब

स्पोक

महाराजवाला

25,000

23

पंजाब

स्पोक

मुक्तसर

100,000

24

पंजाब

स्पोक

भलियाना

37,500

25

पंजाब

स्पोक

गिद्दरबहा

50,000

26

पंजाब

स्पोक

अबोहर

50,000

कुल

1,087,500

परियोजना 2 - डीबीएफओओ (चरण 1) के तहत स्थान

डीबीएफओओ परियोजना -2

क्र.सं.

राज्य

साईलो का प्रकार (हब/स्पोक)

स्थान

क्षमता टन में

1

बिहार

स्पोक

पूर्णिया

50,000

2

बिहार

स्पोक

अररिया

50,000

3

बिहार

स्पोक

दरभंगा

50,000

4

बिहार

स्पोक

समस्तीपुर

50,000

5

बिहार

स्पोक

बेगूसराय

50,000

6

बिहार

स्पोक

किशनगंज

50,000

7

उत्तर प्रदेश

स्पोक

सीतापुर

25,000

8

उत्तर प्रदेश

स्पोक

लखीमपुर

50,000

9

उत्तर प्रदेश

स्पोक

बहराइच

25,000

10

उत्तर प्रदेश

स्पोक

सुल्तानपुर

25,000

11

उत्तर प्रदेश

स्पोक

अमेठी

25,000

12

उत्तर प्रदेश

स्पोक

औरैया

25,000

13

उत्तर प्रदेश

स्पोक

बलरामपुर

25,000

14

उत्तर प्रदेश

स्पोक

कानपुर देहात

25,000

15

उत्तर प्रदेश

स्पोक

अम्बेडकरनगर

25,000

16

उत्तर प्रदेश

स्पोक

फर्रुखाबाद

25,000

17

उत्तर प्रदेश

स्पोक

रायबरेली

25,000

18

उत्तर प्रदेश

स्पोक

श्रावस्ती

25,000

19

उत्तर प्रदेश

स्पोक

संभल

25,000

20

उत्तर प्रदेश

स्पोक

बदायूं

25,000

21

उत्तर प्रदेश

स्पोक

उन्नाव

25,000

22

पश्चिम बंगाल

स्पोक

मालदा

25,000

कुल

725,000

परियोजना - 3 के तहत स्थानडीबीएफओओ (चरण 1)

डीबीएफओओ परियोजना - 3

क्र.सं.

राज्य

साईलो का प्रकार (हब/स्पोक)

स्थिति

क्षमता टन में

1

गुजरात

स्पोक

बनासकांठा

62,500

2

हरियाणा

स्पोक

असंध

25,000

3

हरियाणा

स्पोक

घरौंदा

25,000

4

हरियाणा

स्पोक

समालखा

25,000

5

हरियाणा

स्पोक

गोहाना

25,000

6

हरियाणा

स्पोक

पिलुखेड़ा

25,000

7

हरियाणा

स्पोक

उचाना

25,000

8

हरियाणा

स्पोक

सफीदों

25,000

9

हरियाणा

स्पोक

फतेहाबाद

25,000

10

हरियाणा

स्पोक

रतिया

25,000

11

हरियाणा

स्पोक

भूना

25,000

12

हरियाणा

स्पोक

पलवल

25,000

13

हरियाणा

स्पोक

होडल

25,000

14

जम्मू

स्पोक

कठुआ

75,000

15

मध्य प्रदेश

स्पोक

उज्जैन

75,000

16

मध्य प्रदेश

स्पोक

धार

50,000

17

मध्य प्रदेश

स्पोक

गुना

50,000

18

मध्य प्रदेश

स्पोक

दमोह

50,000

कुल

662,500

डीबीएफओटी और डीबीएफओओ बोली दस्तावेजों की प्रमुख विशेषताओं को नीचे सारणीबद्ध किया गया है:-

क्र.सं.

मानदंड

डीबीएफओटी

डीबीएफओओ

1.

संरचना

एकल आरएफपी बहुल सीए

एकल आरएफपी एकल सीए

2.

अर्हता मापदंड

बोलीदाता की तकनीकी और वित्तीय क्षमता दोनों के आधार पर अर्हता

बोलीदाता की वित्तीय क्षमता के आधार पर अर्हता

3.

बोली का मानदंड

भारित औसत निर्धारित भंडारण प्रभार प्रति टन/प्रति वर्ष

सम्पूर्ण बंडल के लिए एकल निर्धारित भंडारण प्रभार प्रति टन/प्रति वर्ष

4.

बोलीदाता का चुनाव

ई-रिवर्स नीलामी प्रक्रिया के लिए अनुवर्ती न्यूनतम भारित औसत निर्धारित भंडारण प्रभार प्रति टन प्रति वर्ष

वित्तीय प्रस्ताव के अनुसार न्यूनतम निर्धारित भंडारण प्रभार प्रति टन प्रति वर्ष

5.

एक बोलीदाता को परियोजनाओं की संख्या प्रदान करने पर प्रतिबंध

(4 डीबीएफओटी परियोजनाओं (बंडलों) में से बोलीदाता को 1 परियोजना (बंडल) प्रदान करने पर प्रतिबन्ध

एक बोलीदाता को परियोजनाओं की संख्या प्रदान करने पर कोई प्रतिबंध नहीं

6.

साईलो का प्रकार

हब और स्पोक साईलोस दोनों

केवल स्पोक साईलोस

7.

ई-रिवर्स नीलामी

एल1 की पहचान करने हेतु ई-रिवर्स नीलामी

कोई ई-रिवर्स नीलामी नहीं

डीबीएफओओ के प्रथम चरण की परियोजनाओं के लिए राज्य सरकारों द्वारा भूमिचिन्हित करना:-

चूंकि भूमि अधिग्रहण डीबीएफओओ परियोजना में सबसे महत्वपूर्ण भाग होता है, इसलिए कंसेसियनार को भूमि की उपलब्धता की सुविधा प्रदान करने के लिए,इस विभाग ने संबंधित राज्य सरकारों अर्थात उत्तर प्रदेश, गुजरात,हरियाणा, जम्मू और कश्मीर, मध्य प्रदेश, पंजाब, पश्चिम बंगाल और बिहार के साथ उपयुक्त अधिशेष भूमि,यदि कोई हो, की पहचान करने का मुद्दा उठाया।

खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के लगातार प्रयासों, राज्य सरकारों के साथ विभिन्न बैठकों और राज्य सरकारों के सहयोग से संबंधित कंसेसियनार को पट्टे/हस्तांतरण के लिए कुछभूखंडो की पहचान राज्य सरकारों द्वारा की गई है।

पंजाब राज्य ने 26 स्थानों पर सरकारी/पंचायत भूमि की उपलब्धता की पुष्टि की है। राज्य सरकार का भूमि बैंक डाटा,संबंधित पट्टा नीतियां और भूमि के लिए आवेदन की प्रक्रिया आदि के बारे में जानकारीhttp://investpunjab.gov.in/home पर प्राप्त की जा सकती है। साथ ही राज्य सरकार ने अन्य स्थानों जहां भूमि बैंक डाटा कंसेसियनार की आवश्यकता को पूरा करने के लिए पर्याप्त नहीं है, पर भी भूमि उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया है।

उत्तर प्रदेश राज्य ने साइलो परियोजनाओं के लिए मंडियों में 15 स्थानों की पहचान की है। गुजरात राज्य ने बनासकांठा में साइलो के निर्माण के लिए एक स्थान की पहचान की है। मध्य प्रदेश राज्य ने 4 स्थानों की पहचान की है।