• पिछला अद्यतनीकृतः: 10 जनवरी 2020
  • मुख्य सामग्री पर जाएं | स्क्रीन रीडर का उपयोग | A A+ A++ | |
  • A
  • A

केन्द्रीय भंडारण निगम (सीडब्‍ल्‍यूसी)


केन्द्रीय भंडारण निगम अनुसूची ’- मिनी रत्‍न श्रेणी-1 केन्द्रीय सार्वजनिक उपक्रम है, जो एक सांविधिक निकाय है, जिसकी स्‍थापना भंडारण निगम अधिनियम, 1962 के अधीन की गई थी। इसका उद्देश्‍य सामाजिक रूप से जिम्‍मेदार और पर्यावरण अनुकूल तरीके से विश्‍वसनीय, किफायती, मूल्‍य वर्धित, एकीकृत भंडारण और संभार तंत्र सेवाएं प्रदान करना है।

 

केन्द्रीय भंडारण निगम की प्राधिकृत पूंजी और कुल प्रदत्‍त पूंजी क्रमश: 100.00 करोड़ रूपये तथा 68.02 करोड़ रूपये है। वर्ष 2018-19 के दौरान केंद्रीय भंडारण निगम का टर्नओवर 1604.62 करोड़ रूपये था; इसका कर पूर्व लाभ 225.42 करोड़ रूपये था तथा कर पश्‍चात लाभ 163.61 करोड़ रूपये था। केंद्रीय भंडारण ने अपने शेयरधारकों को वर्ष 2018-19 के लिए 49.08 करोड़ रूपये के कुल लाभांश का भुगतान किया है।

 

एक अग्रणी भंडारण एजेंसी के रूप में, केंद्रीय भंडारण निगम दिनांक 31.12.2019 की स्‍थिति के अनुसार कुल 101.44 लाख टन भंडारण क्षमता वाले 415 वेयरहाउसों का प्रचालन कर रहा था, जिसमें 25 कंटेनर फ्राईट स्‍टेशन(सीएफएसएस)/अंतर्देशीय क्‍लीयरेंस डिपो(आईसीडी), 3 एयर कार्गो काम्‍पलेक्‍स, पेट्रापोल और अटारी मे 2  अंतर्देशीय जाँच  केंद्र तथा 3 तापमान नियंत्रित वेयरहाउस शामिल हैं। केंद्रीय भंडारण निगम समाशोधन और अग्रेषण, हैंडलिंग और ढुलाई, विसंक्रमण, प्रधूमन आदि के क्षेत्र में भी सेवाएं प्रदान करता है। यह विभिन्‍न एजेंसियों को भांडागारण अवसंरचना के निर्माण के लिए परामर्श सेवाएं/प्रशिक्षण भी प्रदान करता है।

 

केंद्रीय भंडारण निगम के पास 19 राज्‍य भंडारण निगम (एसडब्‍ल्‍यूसी) हैं, जो इसके सहयोगी हैं। केंद्रीय भंडारण निगम राज्‍य भंडारण निगमों की शेयरपूंजी में 50 प्रतिशत का शेयरधारक है। राज्‍य भंडारण निगमों में केंद्रीय भंडारण निगम का कुल निवेश 61.79 करोड़ रूपये है। दिनांक  31.12.2019 की स्‍थिति के अनुसार भंडारण निगम कुल 354.85 लाख टन क्षमता वाले 2055 वेयरहाऊसों का प्रचालन कर रहे थे।


अधिक जानकारी के लिए कृपया भंडारण निगम की वेबसाईट http://cewacor.nic.in/index.php देखें।