• पिछला अद्यतनीकृतः: 07 दिसम्बर 2021
  • मुख्य सामग्री पर जाएं | स्क्रीन रीडर का उपयोग | A A+ A++ | |
  • A
  • A

केन्द्रीय भंडारण निगम

 

केन्द्रीय भंडारण निगम अनुसूची ‘’- मिनी रत्‍न श्रेणी-1 केन्द्रीय सार्वजनिक उपक्रम है, जो एक सांविधिक निकाय है, जिसकी स्‍थापना भंडारण निगम अधिनियम, 1962 के अधीन की गई थी। इसका उद्देश्‍य सामाजिक रूप से जिम्‍मेदार और पर्यावरण अनुकूल तरीके से विश्‍वसनीय, किफायती, मूल्‍य वर्धित, एकीकृत भंडारण और संभार तंत्र सेवाएं प्रदान करना है।

 

केन्द्रीय भंडारण निगम की प्राधिकृत पूंजी और कुल प्रदत्‍त पूंजी क्रमश: 100.00 करोड़ रूपये तथा 68.02 करोड़ रूपये है। वर्ष 2020-21 के दौरान केंद्रीय भंडारण निगम का टर्नओवर 2168.13 करोड़ रूपये है पिछले वर्ष के मुकाबले i.e 1727.63 करोड़ (440.50 करोड़ की वृद्धि i.e. 25.50 %)। कर पूर्व लाभ पिछले वर्ष i.e 409.67 करोड़ के  मुकाबलेवर्ष 2020 -21 में 565.55करोड़ रूपये है (38%की वृद्धि) । कर पश्‍चात लाभ पिछले वर्ष i.e 372.32 करोड़ के  मुकाबलेवर्ष 2020-21 में 438.17 करोड़ रूपये है ।

 

केंद्रीय भंडारण निगम ने 28.09.2020 को आयोजित एजीएम में शेयरधारकों द्वारा मंजूरी मिलने पर  वर्ष 2020-21 के दौरान 111.68 करोड़ रूपये वर्ष 2019-20 का मिलाकर  227.24 करोड़ रुपये का  कुल लाभांश का भुगतान किया है  और  अनुमोदित वर्ष 2019-20 के लिए 115.56  करोड़ रुपये का अंतरिम लाभांश का भुगतान किया है।

 

एक अग्रणी भंडारण एजेंसी के रूप में, केंद्रीय भंडारण निगम दिनांक 30.09.2021 की स्‍थिति के अनुसार कुल 138.34 लाख टन भंडारण क्षमता और 1.12 लाख मीट्रिक टन प्रबंधन क्षमता सहित वाले 420 वेयरहाउसों का प्रचालन कर रहा है, जिसमें 41 सीमा शुल्‍क बोंडेड भण्‍डारगारों25 कंटेनर फ्राईट स्‍टेशन(सीएफएसएस)/अंतर्देशीय क्‍लीयरेंस डिपो(आईसीडी), 2 एयर कार्गो काम्‍पलेक्‍स तथा 1 तापमान नियंत्रित वेयरहाउस इंटीग्रेटेड चेक पोस्ट (आईसीपी) शामिल हैं। केंद्रीय भंडारण निगम समाशोधन और अग्रेषण, हैंडलिंग और ढुलाई, विसंक्रमण, प्रधूमन आदि केक्षेत्र में भी सेवाएं प्रदान करता है। यह विभिन्‍न एजेंसियों को भांडागारण अवसंरचना के निर्माण के लिए परामर्श सेवाएं/प्रशिक्षण भी प्रदान करता है।

 

 केंद्रीय भंडारण निगम के पास 19 राज्‍य भंडारण निगम (एसडब्‍ल्‍यूसी) हैं, जो इसके सहयोगी हैं। केंद्रीय भंडारण निगम राज्‍य भंडारण निगमों की शेयरपूंजी में 50 प्रतिशत का शेयरधारक है। राज्‍य भंडारण निगमों में केंद्रीय भंडारण निगम का कुल निवेश 61.79 करोड़ रूपये है। दिनांक 30.09.2021 की स्‍थिति के अनुसार भंडारण निगम कुल 508.35 लाख टन क्षमता वाले 2216 वेयरहाऊसों का प्रचालन कर रहे थे। (34.07 लाख मीट्रिक टन प्रबंधन क्षमता सहित)

 

अधिक जानकारी के लिए कृपया भंडारण निगम की वेबसाईटhttp://cewacor.nic.i/index.php देखें।



सैण्ट्रल रेलसाइड वेअरहाउस कम्पनी लिमिटेड (सीआरडब्लूसी)


सैण्ट्रल रेलसाइड वेअरहाउस कम्पनी लिमिटेड (सीआरडब्लूसी) एक मिनी रत्न, श्रेणी-II सार्वजनिक क्षेत्र का उद्यम है, जिसकी स्थापना दिनांक 10.07.2007 को कम्पनी अधिनियम, 1956 के अधीन  की गई।

 

सीआरडब्लूसी की प्राधिकृत तथा प्रदत्त शेयर पूंजी क्रमशः 150 करोड़ तथा 40.56 करोड़ रूपए है। सम्पूर्ण प्रदत्त शेयर पूंजी वर्तमान में केन्द्रीय भण्डारण निगम के पास है। वर्ष 2020-21, में कुल टर्नओवर 98.11 करोड़ रहा।  कर पूर्व लाभ 25.90 करोड़ रूपए तथा कर पश्चात लाभ 19.36 करोड़ रूपए रहा।

 

इसके अलावा, वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए सीआरडब्लूसी ने केन्द्रीय भण्डारण निगम को रू.7.50 करोड़ अंतरिक लाभांश के रूप में भुगतान किया जोकि शेयर पूंजी का 18.49% है।

 

सैण्ट्रल रेलसाइड वेअरहाउस कम्पनी लिमिटेड के पास कुल  3,54,967 मीट्रिक टन भंडारण क्षमता वाले 20 रेलसाइड वेअरहाउस परिसर (आरडब्लूसी) हैं तथा यह सभी हितधारकों को सभी प्रकार की रेल आधारित लॉजिस्टिक्स सेवाएं प्रदान कर रही है और सभी हितधारक इसका लाभ उठा रहें हैं।

 

सैण्ट्रल रेलसाइड वेअरहाउस कम्पनी लिमिटेड का उद्देश्य रेल मार्ग से संचलन को बढ़ावा देने के लिए तथा अपने ग्राहकों की लॉजिस्टिक्स आवश्यकताओं को सुविधाजनक बनाने के लिए समर्पित रेल हैंडलिंग सुविधाओं (निकटवर्ती रेल साइडिंग) को विकास करना है। इसका उद्देश्य मल्टीमॉडल परिवहन परिचालनों के व्यवसाय का संवर्धन करना तथा कार्गों के घरेलू और इंपेक्स संचलन के लिए एकत्रीकरण/विभाजन दोनों के लिए है।

 

सीआरडब्लूसी एकीकृत वेअरहाउस प्रबंधन तथा लॉजिस्टिक सेवाएं, जिससे, समग्र प्रवीणता में वृद्धि, अनुकूलन लागत, क्षति/चोरी की रोकथाम, रैकों की डिटेंशन अवधि में कमी तथा एक ही स्थान पर उन्नत सेवाएं प्रदान की जा रही हैं।

 

अधिक जानकारी के लिए कृपया सेंट्रल रेलसाइड वेयरहाउस कंपनी लिमिटेड की वेबसाइट https://www.crwc.in/?q=en पर देखें।