• पिछला अद्यतनीकृतः: 22 सितम्बर 2023
  • मुख्य सामग्री पर जाएं | स्क्रीन रीडर का उपयोग | A A+ A++ |
  • A
  • A

विश्‍व खाद्य कार्यक्रम

विश्‍व खाद्य कार्यक्रम उड़ीसा सरकार के साथ मध्‍याह्न भोजन स्‍कीम के माध्‍यम से स्‍कूली भोजन को अनेक सूक्ष्मपोषक तत्वों से फोर्टिफाई करके 6-14 वर्ष आयु के 2,00,000 लाख स्‍कूली बच्‍चों तक रोजाना पहुंचा रहा है।

केरल में, विश्‍व खाद्य कार्यक्रम सरकारी स्‍कीम के माध्‍यम से उपलब्‍ध कराए जाने वाले टेक-होम राशन को फोर्टिफाई करना सुनिश्‍चित करके 3 वर्ष से कम आयु के बच्‍चों में सूक्ष्मपोषक तत्वों की कमी से होने वाले कुपोषण को कम करने पर ध्‍यान केंद्रित कर रहा है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को बच्‍चों की उन्नत पौषणिक स्‍थिति, भोजन खिलाने तथा पकाने की पद्धतियों से संबंधित साधनों के संबंध में प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। विश्‍व खाद्य कार्यक्रम लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली प्रचालनों के एक सिरे से दूसरे सिरे तक कंप्यूटरीकरण के संबंध में खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग की केंद्रीय परियोजना निगरानी ईकाई के लिए तकनीकी सहायता भी उपलब्‍ध करा रहा है।

विश्‍व खाद्य कार्यक्रम का कंट्री स्ट्रेटेजिक प्लान (सीएसपी) 2015-18

कृषि एवं सहकारिता विभाग के अधीन नए कंट्री स्ट्रेटेजिक प्लान (सीएसपी) 2015-18 पर संयुक्‍त राष्‍ट्र विश्‍व खाद्य कार्यक्रम (यूएनडब्‍ल्‍यूएफपी) तथा भारत सरकार द्वारा हस्‍ताक्षर किए गए हैं। खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग को कार्यनीतिक प्राथमिकता क्षेत्र के संबंध में, राज्‍य सरकारों को मापनयोग्‍य कार्यान्‍वयन दृष्‍टिकोण, जो राष्‍ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के प्रभावी तथा कुशल कार्यान्‍वयन में वृद्धि करता है, तैयार करने के लिए सहायता करने के संबंध में नोडल विभाग बनाया गया है।

इस योजना के अंतर्गत विश्‍व खाद्य कार्यक्रम सभी लोगों के लिए पूरे वर्ष सुरक्षित, पोषक तथा पर्याप्‍त भोजन की उपलब्‍धता सुनिश्‍चित करने के संबंध में तकनीकी सहायता उपलब्‍ध कराने पर ध्‍यान केंद्रित कर रहा है तथा अंतर्राष्‍ट्रीय स्‍तर पर सहमत लक्ष्‍यों के अनुसार 5 वर्ष से कम आयु के बच्‍चों में अवरुद्ध विकास एवं दुर्बलता पर ध्‍यान केंद्रित करते हुए कुपोषण को समाप्‍त करना सुनिश्‍चित कर रहा है तथा किशोरियों, गर्भवती महिलाओं तथा स्‍तनपान कराने वाली माताओं तथा वृद्ध व्‍यक्‍तियों की पौषणिक आवश्‍यकताओं को पूरा कर रहा है।

वार्षिक कार्य योजना 2018

वार्षिक कार्य योजना, 2018 में बेहतर पहुंच, कुशलता तथा दक्षता के संबंध में खाद्य आधारित सामाजिक सुरक्षा तंत्र को सुदृढ़ बनाने हेतु उचित व्‍यक्‍तियों को उनकी उचित हकदारी प्राप्‍त होना सुनिश्‍चित करने के लिए आपूर्ति श्रृंखला प्रबंधन, एनएफएसए के अंतर्गत शामिल की गई स्‍कीमों के लक्षित करने तथा सुपुर्दगी करने संबंधी तंत्र में वैश्‍विक रूप से मान्‍यता प्राप्‍त तकनीकी डिजाइन सिद्धांतों तथा प्रौद्योगिकी का प्रयोग प्रारंभ करते हुए राष्‍ट्रीय तथा राज्‍य सरकारों को सहायता प्रदान करने पर ध्‍यान केंद्रित किया गया है। वार्षिक कार्य योजना, 2018 के अंतर्गत निम्‍नलिखित गतिविधियों से सब्‍सिडी को लक्षित करने तथा कवरेज में सुधार होगा, लीकेज में कमी होगी तथा लाभभोगियों को अधिक सुविधा होगी।

  • प्रौद्योगिकी समाधान तथा उन्नत सेवा सुपुर्दगी प्रणाली के माध्‍यम से लक्षित सार्वजनिक वितरण प्रणाली कार्यक्रम में सुधार।
  • टीपीडीएस फूड बास्‍केट के संबंध में सर्वोत्‍तम पद्धति मॉडल को प्रायोगिक आधार पर अपनाना।
  • शहरी क्षेत्रों में खाद्य आधारित सुरक्षा तंत्र के लिए नकद अंतरण/ई-वाउचर को प्रायोगिक आधार पर अपनाने (डीबीटी) के लिए सहायता करना।